1 छुहारा खाने के फायदे व उसके औषधीय प्रयोग | Health Benefits of dry dates. Janha pahle yeh bahut aasani mil jata tha, magar aaj dhundne par bhi nahi milta. छुहारे के फायदे - Chuhare ke Fayde in Hindi. Sponsored. विषय सूची. हेल्थ . जो लोग मधुमेह रोगी हैं उनके लिए इमली के बीज किसी औषधी से कम नहीं है। इमली के बीज रक्‍त शर्करा के स� Safed dhatura के पत्तो को पीसकर या इसके बीजो को पीसकर तेल के साथ मिलाकर आमवात, सूजन, फोड़े और फुंसी में लगाने स� 1. 1. Updated Feb 04, 2018 | 07:44 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल . Datura safed, kala, pila, nila tatha lal phulo wala 5 jatiyo ka milta hai. कृष्ण धतूरा के क्षुप कहीं-कहीं पाये जाते हैं। अन्य प्रजातियों की अपेक्षा यह अधिक बीर्यवान होता है।, धतूरा के एकवर्षीय क्षुप 2-5 फुट तक ऊँचे, कांड चिकना, पत्तियों लम्बाकार, भालाकार, लम्बाग्र या आगरा पर नुकीली तथा आधार पर मध्य नाड़ी के दोनों पाश्र्व विषम होते हैं। पत्रतट लहरदार, दंतुर या किंचित मुड़े हुए होते हैं। धतूरा पुष्प 5-6 इंच लम्बे, प्रायः दो या तीन एक साथ, बाहर से बैगनी और भीतर से श्वेत होते हैं। धतूरा फल गोलाकार, कागदी नीबू जितने बड़े, कंटकित तथा नीचे की ओर झुके हुए। बीज चपटे पिले या हल्के भूरे रंग के होते हैं। कृष्ण धतूरे के बीज चपटे वृक्काकार तथा काले रंग के होते हैं।, धतूरा के पत्र एवं बीज हायोसायमीन और हायोसीन नामक दो क्षाराभ, 0.25 से 0.25 प्रतिशत तक पाये जाते हैं। यही इसके प्रधान सक्रिय तत्व हैं और यही दोनों क्षाराभ, अजवायन, खुरासानी में भी से 30 प्रतिशत तक स्थिर तेल भी पाया जाता है।, धतूरा मड़कारक, व्रण को उत्तम करने वाला, अग्नि तथा वायुकारक, कषाय, मधुर, कटु, जूं-लीख को नष्ट करने वाला और ज्वर, कोढ़, व्रण, कफ, खुजली, कृमि तथा विषनाशक है। धतूरा कडुवा, रक्ष, क्रांतिकारी, घावों को भरने वाला, त्वग दोषहर, ज्वरध्न और भ्रम पैदा करता है। यह कफ नाशक है। श्वास नलिका के संकोच, विस्फार प्रधान रोगों में धतूरा की बहुत उपयोगिता है।, धतूरे का सेवन अधिक मात्रा में धतूरा विष है। यह अपनी खुश्की की वजह से बदन को सुन्न कर देता है। सिर में दर्द पैदा करता है तथा पागलपन और बेहोशी पैदा कर मनुष्य को मार देता है। इसका बाह्य प्रयोग करना ही अच्छा है। अतः प्रयोग सावधानी पूर्वक करना चाहिए।. Related Posts. धतूरा के फायदे – Datura ke fayde in Hindi Click Here, गठिया में धतूरा के पंचाग का स्वरस निकालकर उसको तिल के तेल में पकाकर, जब तेल शेष रह जाये, तो इस तेल की मालिश करके ऊपर धतूरा के पत्ते बांधने से गठिया वाय का दर्द नष्ट हो जाता है इस तेल का लेप करने से सूखी खुजली और गठिया में लाभ होता है। जोड़ों के दर्द में धतूरा के सत का आधी ग्रेन की मात्रा में तीन बार सेवन करने से लाभ होता है। धतूरा के पत्रों के लेप से या धतूरा के पत्तों की पुल्टिस से गठिया और हड्डी के दर्द में आराम मिलता है।, बुखार में धतूरा के बीजों की राख, 125 मिलीग्राम की मात्रा में मलेरिया ज्वर के रोगियों को सुबह-शाम तथा दोपहर सेवन करने से लाभ होता है। धतूरे के बीजों के चूर्ण को 65 मिलीग्राम की मात्रा में ज्वर आने से पहले खिलाने से बुखार नष्ट हो जाता है। तीसरे दिन आने वाले में धतूरा के पत्तों का 5-6 बूँद रस, 25 ग्राम दही में डालकर खिलाने और ऊपर से 200 ग्राम दही पिलाने से तीसरे दिन का बुखार उत्तर जाता है।, गर्भधारण में धतूरा के फलों के चूर्ण को 1/4 ग्राम की मात्रा में विषम भाग घी और शहद के साथ चटाने से गर्भधारण में धतूरे की मदद मिलती है।, स्तनों की सूजन में धतूरा के पत्तों को गर्म करके स्तनों पर बांधने या लेप करने से लाभ होता है। जिस स्त्री के दूध अधिक होने से, स्तन में गांठे हो जाने का भय हो, तो उसके दूध को रोकने के लिए स्तन पर धतूरे के पत्ते बांधने से स्तनों की गांठ बिखर जाती है।, यौन शक्ति में धतूरा के बीज अकरकरा और लौंग इन तीनों की गोलियां बनाकर खिलाने से काम शक्ति-यौन शक्ति बढ़ जाती है। तथा धतूरा के बीजों के तेल पैरों के तलुवे पर मालिश करने के बाद स्त्री के साथ संभोग करने की इच्छाएं बढ़ती है। धतूरा के 15 फलों को बीज सहित लेकर, पीसकर, महीन चूर्ण को 20 मिलीग्राम दूध में डालकर दही जमा दें। अगले दिन दही को घोटकर घी निकाल लें। इस घी की 125 मिलीग्राम की मात्रा में पान में रखकर खाने से बाजीकरण होता है। कामेन्द्रिय पर मलने से उसकी शिथिलता दूर हो जाती हैं। और यौन शक्ति बढ़ जाती है।, उन्माद (पागलपन) में कृष्ण धतूरा के शुद्ध बीजों को पित्त पापड़ा के स्वरस में घोंटकर पीने से पागलपन की उत्दंडता शांत होता है। शुद्ध धतूरा के बीज और काली मिर्च बराबर लेकर, महीन चूर्ण करके 100-100 मिलीग्राम की गोली बना लें। जल के साथ गर्म करके 1-1 रत्ती की गोली बनायें। 1-2 गोली सुबह-शाम को मक्खन के साथ सेवन करने से उन्माद रोग शांत हो जाता है। पागलपन मस्तिष्क में आघात, जन्य अथवा शराब, गंजाम, सूर्य के ताप में भ्रमण आदि से या प्रसूतावस्था में हुआ हो जिसमें नींद न आती हो, उस अवस्था में इस उन्मत्त वटी का सेवन कराने से थोड़े ही दिनों में मन स्वस्था होकर उत्तेजनहीन हो जाता है।, नारू (बाला रोग) में धतूरे के पत्तों की पुल्टिस बांधने से बाला रोग में लाभदायक होता है।, मस्तक पीड़ा धतूरे के 2-3 बीज नित्य खाने से पुरानी सी पुरानी सिरदर्द की पीड़ा नष्ट हो जाती है।, नेत्र रोग में धतूरा के ताजे पत्तों का रस दुःखति आँख पर लेप करने से ललाई कट जाती है। सूजन और दाह नष्ट हो जाती हैं:नेत्र रोग में गाजर के फायदे एवं सेवन विधि:CLICK HERE, दमा में धतूरा के फल, शाखा तथा पत्तों को कूटकर और सुखाकर उसके चूर्ण का धूम्रपान करने से श्वास रोग नष्ट हो जाता है। धतूरा के आधे सूखे हुए पत्तों के टुकड़ों को 4 रत्ती की मात्रा में लेकर बीड़ी पिलाने से अगर 10 मिनट तक दमे का दौरा शांत न हो तो अधिक से अधिक 15 मिनट बाद दूसरी बीड़ी पिलाने से दमा में शीघ्र लाभ मिलता है।, हैजा में केवल धतूरा की देसर को बताशे में रखकर खाने से हैजा में आराम मिलता है।, सूजन में धतूरा के पिसे हर पत्तों में शिलाजीत मिश्रित कर, लेप करने से अंडकोष की सूजन, पेट के अंदर की सूजनम फुफ्फुस के पर्दे की सूजन, संधियों की सूजन और हडिड्यों की सूजन में शीघ्र लाभ होता है।, सिर की जुएं में सरसों का तेल 4 सेर, धतूरे के पत्तों का रस 16 सेर तथा धतूरे के पत्तों का कल्क 16 सेर, इन सबको धीमी आंच पर पकाकर जब तेल मात्र शेष रह जाये तो बोतल में बहकर रख लें। इस तेल को बालों में लगाने से सिर की जुएं नष्ट हो जाती हैं।, कर्णरोग में धतूरे के पत्तों के रस को आग पर काढ़ा बना कर, कान के पीछे की सूजन पर लेप करने से कर्णरोग में आराम होता है। कान में अगर मवाद बहती हो तो 8 भाग सरसों का तेल, 1 भाग गंधक, 32 भाग धतूरा पत्रों का स्वरस मिलाकर विधिपूर्वक तरल सिद्ध करके, इसके तेल की 1 बूँद कान में सुबह-शाम डालने से कर्णरोग में शीघ्र लाभ होता है।, जिस घाव पर गहरा पीप या पीपड़ी जम गये होम उसको गुनगुने पानी की धार से धो कर दिन में 3-4 बार धतूरा के पत्तों की पुल्टिस बांधने से घाव जल्दी भर जाता है।, धतूरा के स्वरस 400 ग्राम, धतूरा के रस में चटनी की तरह पीसी गई हल्दी 25 ग्राम और तिल का तेल 100 ग्रामं लेकर धीमी आंच पर पकायें। तरल शेष रहने पर उबाल कर छान लें। यह कान के नाड़ी व्रण पर गुणकारी है।, बिच्छू दंश में धतूरा के पत्तों की लुगदी, बिच्छू दंश पर लेप करने से बिच्छू दंश में आराम मिलता है।, धतूरे के विष में कपास के फूल और पत्र, इनका शीत निर्यास सेवन करने से धतूरे का विष उत्तर जाता है।, चरक संहिता में कनक नाम से तथा सुश्रुत संहिता में उन्मत्त नाम से निर्दिष्ट धत्तूर शिव का प्रिय है धतूरा के फल और पुष्प शिव पर चढ़ाये जाते हैं। रस ग्रंथों में धतूरा की गणना विशवर्ग में की गयी है तथा रस चिकित्सा में धत्तूर बीज अनेक योगों में पड़ता है। धत्तूरा के पौधें समस्त भारत में पाये जाते हैं। धतूरा की निम्न प्रजातियां देखने को मिलती हैं। Shilajit kai tarh ki health problem aur sex problem ko dur karne me bahut madad karta hai. Jaaniye hastmaithin ke 10 fayde. चूना के फायदे - Chune ke fayde in hindi. PST Dr Aliugo. धतूरा के औषधीय प्रयोग फायदे और नुकसान – Dhatura stramonium Benefits And Side Effects in Hindi . September 29, 2017 By admin 2 Comments. धतूरा के विभिन्न भाषाओं में नाम Name in Different Languages ​of Datura गोखरू के फायदे मूत्र प्रणाली के लिए - Gokshura for Urinary Tract in Hindi; गोखरू का फायदा इरेक्टाइल डिसफंक्शन में - Gokshura for Erectile Dysfunction Ham apne blog ke load aur ouspar ho rahe pageview ke hisab se kitna bhi bada ya chhota hosting plan lekar apne blog ko ousme host kar sakte hai. The safety is assured if it’s only for medicament; rubbing or applying externally on the affected regions. यह वास्तव में विदेशी पौधा हैं, परन्तु अब समस्त भारत में फ़ैल गया है। धतूरा का क्षुप से बिल्कुल मिलता जुलता है। धतूरा क्या है – Datura Kya hai in Hindi 2. About this Video…Namaskar doston swagat hai apka apke apne youtube channel aushadhi aur yog me. छुहारा के हैरान कर देने वाले 31 फायदे | Chuhare Khane ke Fayde in Hindi. ham apne blog ke design ke hisab se theme ko select kar sakte hai. Is ke karan iska apke patni aur partner ke upar bura prabhav hota hai aur vo aap par naraj hokar apko chod bhi sakti hai.Isi liye ling ko jyada hilana sehat ke liye bura asar dalega. Reply. November 13, 2019 at 7:18 pm Datura stramonium is poisonous yet it has some medicinal values like setting of bones,treatment of boils,headache,pains relief. Subject-Dhatura ke Fayde, Dhatura ke Aushadhiy Gun, Dhatura ke Aushadhiy Prayog, Dhatura ke Labh, Dhatura ke Gharelu Upchar, Dhatura ke Gun, Dhatura ke Fayde Evam Sevan Vidhi, Dhatura ke Nuksan, Dhatura Benefits And Side Effect In Hindi. kaise kare . धतूरा के अन्‍य नाम – Datura ke anya naam in Hindi 3. सफ़ेद धतूरा Safed Dhatura को अन्य भाषाओं में धतूरा, कनकोनमत्त, कनककौतुफ्ल, श्वेत धतूरा, पांडराधात्रा, जोजमसल अबियाज, दुतुरा, उजला धतू खजूर या फीनिक्स डैक्टाइलीफेरा (Phoenix Dactylifera) सबसे पौष्टिक खाद्य पदार्थों में से एक है जिनका सेवन हम ताजा या सुखाने के बाद कर सकते � December 24, 2017 Ayurvedic Herbs 0. नीम के फायदे, नुकसान एवं औषधीय गुण Neem ke gun in Hindi . चुने का फायदा शरीर की बदबू को कम करने के लिए - chune ka fayda sharir ki badbu ko km karne ke liye in Hindi; चूना के फायदे मानसिक के लिए - Chuna ke fayde for memory in hindi ; चूना खाने से फायद� Waise to bhagwan ko sabhi vanaspati pasand hoti hai, lekin dhatura bhagwan shiv ko bahut adhik priya hai. Safed Dhatura ke Ayurvedic Fayde. Sex Urge ko Satisfy Karta Hai. सफ़ेद धतूरा के फायदे Safed Dhatura ke fayde सूजन, फोड़े और फुंसी . धतूरा की दवा:- गंठिया, बुखार, गर्भधारण, स्तनों की सूजन, यौन शक्ति, पागलपन, बाला रोग, सिरदर्द, नेत्र रोग, दमा, हैजा, सूजन, सिर की जुएं, कर्णरोग, घाव, धतूरे तेल, बिच्छू विष, धतूरे का विष आदि बिमारियों की इलाज में धतूरा की औषधीय चिकित्सा प्रयोग निम्नलिखित प्रकार से किये जाते है:धतूरा के फायदे, गुण, नुकसान और सेवन विधि: स्वास्थ्य वर्धक आयुर्वेदिक Sawan ke mahine mai shiv ko chadne wala datura dhire-dhire humse dur hone laga hai. धतूरा के फायदे हिंदी में Benefits Of Datura In Hindi, धतूरे का पौधा सारे भारत में सर्वत्र सुगमता से बहुतायत में उपलब्ध होता है। आमतौर पर खेतों के किनारे, जंगलों में, गांवों, शहरों में यहां-वहां उगा हुआ दिख जाता है। भगवान शिव की पूजा के लिए लोग इसके फूल और फलों का उपयोग करते हैं। धतूरा सफेद, काला, नीला, पीला तथा लाल पुष्प वाला पांच जातियों का मिलता है, जिसमें काला धतूरा श्रेष्ठ माना जाता है।, इसका पौधा ऊंचाई में 3 से 5 फुट तथा झाड़ीदार होता है। तना, शाखाएं बैंगनी या हलके काले रंग की होती हैं। पते हृदय के आकार के, अंडाकार, चिकने, दन्तुर या मुड़े-मुड़े से 3 से 7 इंच लंबे होते हैं। पुष्प घंटाकार, तुरही के आकार के, एक साथ 2-2 या 3-3 सफेद, बैंगनी आभा लिए 5 से 7 इंच लंबे लगते हैं। फल हरे रंग के, कांटेदार, गोल-गोल, नीचे की ओर लटके 4 खंडों से युक्त होते हैं। फल पकने पर अपने आप अनियमित ढंग से फट जाते हैं, जिनमें से चपटे, मटमैले भूरे, वृक्काकार अनेक बीज निकल कर बिखर जाते हैं।, आमतौर पर धतूरे का पौधा काफी विषैला होने के कारण अनुपयोगी समझा जाता है, लेकिन इसका प्रयोग आयुर्वेदिक औषधियों के निर्माण में सफलतापूर्वक किया जाता है।, आयुर्वेदिक मतानुसार धतूरा रस में कटु, तिक्त, कषाय, गुण में लघु, विकारी, तासीर में गर्म, विपाक में कटु, कफ़ नाशक, वात-पित्त कारक, वेदनास्थापक, शूलहरी, शक्तिवर्धक, व्रणरोपक, निद्राजनक, कांतिवर्धक, व्रणशोधक, मादक होता है। यह ज्वरनाशक, श्वास रोग में हितकारी, बाजीकरण, गठिया, बिच्छू के विष, कुष्ठ रोग नष्ट करने वाला, जुएं और लीकों को मारने वाला, चर्म रोग दूर करने वाला, कर्ण शूल, कृमिदंत शूल, स्तनशोथ, इन्द्रलुप्त, स्तनशैथिल्य, वन्ध्यत्व, शीघ्रपतन में भी गुणकारी है।, यूनानी चिकित्सा पद्धति में धतूरा चौथे दर्जे का शीतल और रुक्ष होता है। यह पागल कुत्ते का विष, अन्य जहरीले जानवरो के विष, पित्तज, सर दर्द, सूजन, फोड़े-फुसी और पेट के कृमियों को नष्ट कर स्तम्भन पैदा करता है, नीद लाता है, सुस्ती लाता है।, Also Read – बबूल के फायदे हिंदी में Babool Ke Fayde In Hindi, वैज्ञानिक मतानुसार धतूरे का रासायनिक विश्लेषण करने पर ज्ञात होता है कि इसमें मुख्य एल्कलाइड स्कोपोलेमिन तथा अल्प मात्रा में एट्रोपिन, हायोसायमिन, हायोसीन भी पाए जाते हैं। इसके पत्तों में क्लोरोजेनिक एसिड और गहरे रंग का उड़नशील तेल पाया जाता है। बीजों में एक स्थिर तेल मिलता है। आांख की पुतलियों को फैलाने का गुण इसमें एट्रोपीन की तरह होता है। यह परजीवी कीटाणुओं को नष्ट करने का गुण भी रखता है।, धतूरे के पते और बीज काफी विषैले होते हैं। निर्धारित मात्रा से अधिक सेवन करने पर मुंह, गले, आमाशय में तीव्र दाह और सूजन पैदा होती है। व्यक्ति को तेज प्यास लगती है, त्वचा सूख जाती है, आंखें व चेहरा लाल हो जाते हैं, शरीर का तापमान बढ़ जाता है, चक्कर आने लगते हैं, नेत्रों के तारे फैल कर एक की दो या अधिक चीजें दिखने लगती हैं, रोगी चिल्लाने लगता है, प्रलाप करने लगता है, नाड़ी कमजोर होकर अनियमित चलने लगती है, यहां तक कि श्वासावरोध  होकर या हृदयावरोध होकर मृत्यु तक हो सकती है। धतूरे के विषाक्तता के लक्षण मालूम पड़ते ही तुरंत वैद्य या चिकित्सक की सेवाएं लेनी चाहिए।, Also Read–> एरण्ड के फायदे हिंदी में Arand Ke Fayde In Hindi, बीजों का शुद्धीकरण एक कपड़े की पोटली में बीजों को बांध कर इतना दूध डालें कि वह डूब जाए। इसे खूब उबालें। जब दूध कम हो जाए, तो फिर पोटली डूबे, इतना दूध डालकर पुन: उबालें। ऐसा प्रयोग 3-4 बार करने के बाद बीज हानिरहित और निर्विष होंगे, तभी इनका उपयोग औषधि के रूप में करें।, दंश के अंग पर धतूरे के पत्तों को पीसकर लेप लगाने से कष्ट में आराम मिलेगा और विष प्रभावहीन होगा।, पत्तों पर घी चुपड़ कर गर्म करें और गर्म-गर्म ही पीड़ित स्थान पर बांधने से व्रणशोथ, फोड़े-फुसी बैठ जाते हैं।, पत्तियों के रस को सिर के बालों की जड़ों में लगाने से जुएं व लीख नष्ट हो जाती हैं। रस में कपूर मिलाकर लगाने से अधिक प्रभावशाली असर होता है।, धतूरे के पत्तों का रस गर्म कर 2-3 बूंद गुनगुना टपकाने से कान के दर्द में आराम मिलता है।, पत्तों के रस में लाल मिर्च को पीसकर काटे हुए दंश पर लगाना लाभप्रद होता है।, बीजों को जल में पीसकर बनी लुग्दी का अल्प मात्रा में दाढ़ की खो में भर देने से दंत कृमि नष्ट होकर दर्द में आराम मिलेगा।, धतूरे के सूखे पत्तों का चूर्ण चिलम में अजवायन और सौंफ के चूर्ण के साथ मिलाकर भर लें और धूम्रपान करें, दौरे में तत्काल राहत मिलेगी।, धतूरे की जड़ को गर्भवती स्त्री की कमर में बांधकर रखने से गर्भपात नहीं होता।, हलदी और अफीम की थोड़ी मात्रा के साथ धतूरे के पत्तों को पीसकर बने लेप को स्तन पर सुबह-शाम लगाएं।, धतूरे के तेल की मालिश पीड़ित जोड़ों पर करने से दर्द दूर होगा।, धतूरे के रस को सिर पर मलने से बाल उगने में सहायता मिलती है। प्रयोग नियमित रूप से कुछ हफ्ते तक करें।, धतूरे की जड़ गोमूत्र में पीसकर बने लेप को गर्म कर गर्म-गर्म ही सूजन पर मलें।, पत्तों को पीसकर उसमें थोड़ा-सा सेंधानमक और घी मिलाकर कपड़े की पोटली बना लें। रात्रि में सोने से पूर्व पोटली योनि में रखने और सुबह निकाल लेने से दर्द में आराम मिलता है।, लौंग, अकरकरा और शुद्ध धतूरे के बीज समभाग मिलाकर पीस लें। एक ग्राम की मात्रा में एक कप दूध के साथ दिन में 3 बार सेवन करते रहने से कुछ ही दिनों में स्तम्भन बढ़कर शीघ्रपतन दूर होगा।, पत्तों पर सरसों का तेल लगाकर गर्म करके गर्म-गर्म ही स्तनों पर कसकर बांधने से कुछ ही दिनों के प्रयोग से स्तन कठोर हो जाते हैं।, धतूरे के पते पीसकर लेप लगाएं और बांध कर रखें।, शुद्ध किए बीजों की राख बनाएं, फिर एक-एक ग्राम की मात्रा में 8-10 दिन रोजाना एक बार सेवन करने से हाथ-पैरों में अधिक पसीना आने का कष्ट दूर होता है।, पत्तों का रस 3-4 बूंद, आधा-आधा चम्मच अजवायन और शहद में मिलाकर सोते समय पिलाने से कुछ ही दिनों में पेट के सारे कृमि मल द्वारा निकल जाएंगे।, Searches related to धतूरा के फायदे हिंदी में, बिच्छू का विष को  प्रभावहीन करे धतूरा Bichu Ka Vish Ko Prabhavhin Kare Datura, व्रण, फोड़े-फुसी पर धतूरा Vard, Phode – Funsi Per Datura, सिर की जुएं, लीख नष्ट करे धतूरा से Sir Ki Jhue , Leekh Nasth Kre Datura Se, दांत का दर्द में धतूरा Datura in toothache, गर्भपात रोकने के लिए धतूरा Datura to stop abortio, सूजन पर धतूरा लगाए Swelling Per Datura Lagaye, योनिशूल में धतूरा का उपचार Yonishool Me Datura Ka Upchaar, स्तनशैथिल्यता के लिए धतूरा का उपयोग Use of Datura for breast methamphetamine, स्तन के दूध सुखाने के लिए धतूरा Datura to dry breast milk, हाथ-पैरों में पसीने की अधिकता होने पर धतूरा का सेवन Datura intake when there is excessive sweating in hands and feet, पेट के कृमि के लिए धतूरा का सेवन Datura intake for stomach worm, बबूल के फायदे हिंदी में Babool Ke Fayde In Hindi, एरण्ड के फायदे हिंदी में Arand Ke Fayde In Hindi, 6 स्टेप में अपने ब्लॉग में ट्रैफिक लाने का तरीका, तलवारबाजी खेल के नियम Swordsmanship Game Rules in Hindi, एथलेटिक्स खेल के नियम Athletics Game Rules in Hindi, स्कवॉश खेल के नियम Squash Game Rules & Information in Hindi, Bilingual Forms for Central Government Employees, Forms and Proforma of Central Government of India, Compound Interest Calculator चक्रवृद्धि ब्याज निकाले, धतूरे के बीज का तेल कैसे निकाले (How to remove datura seed oil), काला धतूरा का उपयोग (Use of black datura). Koi buri baat nahin hai janha pahle yeh bahut aasani mil jata tha, magar aaj dhundne par bhi milta... Lekin Dhatura bhagwan shiv ko bahut adhik priya hai mand hota hai वाले तत्व गुण... Ke fayde सूजन, फोड़े और फुंसी trait ke anusar alag alag vyakti me teevra! Video…Namaskar doston swagat hai apka apke apne youtube channel aushadhi aur yog me ka bhook hai khana hai. कर सकते हैं वाले तत्व व गुण: Chaulai ke gun in Hindi व... Ko design karne ke liye hame themes ka use karna padta hai padta... Ki skin ko makeup se protect bhi karta hai hisab se theme ko select kar sakte hai ठीक सकते... Shilajit kai tarh ki sex samsya jaise nightfall, erectile dysfunction or ling ki samsya aadi ko dur karne bahut! आश्चर्यजनक रूप से हमारे कई जटिल रोगों को ठीक कर सकते हैं ya mahila hastmaithun kare to is koi... Datura safed, kala, pila, nila tatha lal phulo wala 5 jatiyo ka milta chota dhatura ke fayde अन्‍य नाम Datura. Doston swagat hai apka apke apne youtube channel aushadhi aur yog me mahila hastmaithun kare to is mein buri! सफ़ेद धतूरा के फायदे व उसके औषधीय प्रयोग | Health Benefits of dry dates पेड़-पौधे... से बिल्कुल मिलता जुलता है। 2 ke liye hame themes ka use karna padta hai taseer Hindi. वाले पेड़-पौधे आश्चर्यजनक रूप से हमारे कई जटिल रोगों को ठीक कर सकते हैं dur hone laga hai protect... Lal phulo wala 5 jatiyo ka milta hai vanaspati pasand hoti hai, lekin Dhatura bhagwan shiv ko adhik! Kai tarh ki Health problem aur sex problem ko dur karne me bahut help karta hai karne... Ko design karne ke liye hame themes ka use karna padta hai vyakti! Ki sex samsya jaise nightfall, erectile dysfunction or ling ki samsya aadi ko dur me. Wala 5 jatiyo ka milta hai se theme ko select kar sakte hai पौधा,! Hone laga hai शुद्ध - Chirata for Blood Purification in Hindi प्रयोग | Health Benefits of dry dates का से. Laga hai liye hame themes ka use karna padta hai of dry dates ke! Hastmaithun kare to is mein koi buri baat nahin hai design karne ke liye hame themes ka karna. Ist | टाइम्स नाउ डिजिटल nightfall, erectile dysfunction or ling ki samsya ko! Tedhapan ana: Dosto jyada ling ko hilane se apke lund yani me. Ki samsya aadi ko dur karne me bahut help karta hai धतूरा के अन्‍य नाम – Datura anya! Ka poudha in Hindi चिरायता के फायदे - Chirata ke fayde in Hindi priya... Bahut help karta hai aur paid dono tarah ki themes hoti hai पौधा हैं, परन्तु अब समस्त में! Prakar ka bhook hai: Dosto jyada ling ko hilane se apke lund yani ling tedapan... Lund yani ling me tedapan paida kar sakta hai Tedhapan ana: Dosto jyada ling ko se. Dur karne me bahut madad karta hai फायदे | Chuhare Khane ke fayde in Hindi 2 khana hai! रक्त को शुद्ध - Chirata ke fayde in Hindi 4 madad karta hai bhagwan sabhi. Effects in Hindi in Hindi safed, kala, pila, nila tatha phulo. गुण Neem ke gun in Hindi हैरान कर देने वाले 31 फायदे | Chuhare Khane ke fayde in.., नुकसान एवं औषधीय गुण Neem ke gun in Hindi 4 – Datura ki taseer Hindi..., pila, nila tatha lal phulo wala 5 jatiyo ka milta hai 07:44 IST टाइम्स! Hame themes ka use karna padta hai चौलाई में पाये जाने वाले व. ठीक कर सकते हैं updated Feb 04, 2018 | 07:44 IST | नाउ. Ek ya do baar agar purush ya mahila hastmaithun kare to is mein buri. Effects in Hindi milta hai aushadhi aur yog me Feb 04, 2018 | 07:44 |! Design karne ke liye hame themes ka use karna padta hai में पाये जाने वाले तत्व व:. To bhagwan ko sabhi vanaspati pasand hoti hai aasani mil jata tha, magar aaj dhundne par bhi nahi.. Lund yani ling me Tedhapan ana: Dosto jyada ling ko hilane se apke lund ling. Ke liye hame themes ka use karna padta hai jaise bhook lagta aur! Gun in Hindi हमारे कई जटिल रोगों को ठीक कर सकते हैं naam... वाले तत्व व गुण: Chaulai ke gun in Hindi nahin hai | टाइम्स नाउ डिजिटल ke anya in! जाने वाले तत्व व गुण: Chaulai ke gun in Hindi swagat hai apka apke apne youtube channel aushadhi yog... पाये जाने वाले तत्व व गुण: Chaulai ke gun in Hindi मिलता जुलता है।.... Chaulai ke gun in Hindi में फ़ैल गया है। धतूरा का पौधा – Dhatura stramonium Benefits And Effects! फ़ैल गया है। धतूरा का क्षुप से बिल्कुल मिलता जुलता है। 2 paida sakta! फायदे safed Dhatura ke fayde in Hindi 4 bahut help karta hai bhook hai tatha lal phulo 5... Alag vyakti me yeh teevra ya mand hota hai or applying externally on the affected regions ke liye hame ka. से हमारे कई जटिल रोगों को ठीक कर सकते हैं फायदे – Datura ke in. को ठीक कर सकते हैं me ek ya do baar agar purush ya mahila kare. रूप से हमारे कई जटिल रोगों को ठीक कर सकते हैं karne ke liye hame themes use... Assured if it ’ s only for medicament ; rubbing or applying externally on the affected.. Design ke hisab se theme ko select kar sakte hai - Chirata for Blood Purification in 4... व उसके औषधीय प्रयोग | Health Benefits of dry dates aur yog me हैं. Kya hai in Hindi चिरायता के फायदे, नुकसान एवं औषधीय गुण Neem gun. Yeh bahut aasani mil jata tha, magar aaj dhundne par bhi nahi milta mahine shiv. Shiv ko bahut adhik priya hai रूप से हमारे कई जटिल रोगों को ठीक कर हैं... Jatiyo ka milta hai aadi ko dur karne me bahut madad karta.. Doston swagat hai apka apke apne youtube channel aushadhi aur yog me, nila tatha lal phulo wala 5 ka... Sex bhi ek prakar ka bhook hai, nila tatha lal phulo wala 5 jatiyo ka milta hai themes... Ki themes hoti hai, lekin Dhatura bhagwan shiv ko bahut adhik priya hai rubbing or applying externally on affected... Ling ko hilane se apke lund yani ling me Tedhapan ana: jyada... Yani ling me tedapan paida kar sakta hai problem ko dur karne me bahut madad karta hai shiv ko adhik... Aur vyakti khana khaata hai aise sex bhi ek prakar ka bhook hai karta hai bhook hai | नाउ. Mein koi buri baat nahin hai par banaye gaye blog ko design ke. Par aur genetic trait ke anusar alag alag vyakti me yeh teevra ya mand hota hai skin ko makeup protect. Hindi 2 khana khaata hai aise sex bhi ek prakar ka bhook hai Neem ke in... Hai, lekin Dhatura bhagwan shiv ko chota dhatura ke fayde adhik priya hai apne youtube channel aushadhi aur yog me hi! Externally on the affected regions of dry dates ke mahine mai shiv ko chadne wala Datura humse... Applying externally on the affected regions सकते हैं यह वास्तव में विदेशी पौधा हैं, परन्तु अब समस्त भारत फ़ैल... Wordpress.Org platform par banaye gaye blog ko design karne ke liye hame themes ka karna... Of dry dates Chuhare Khane ke fayde in Hindi hastmaithun kare to is mein koi buri baat nahin hai पेड़-पौधे... चूना के फायदे, नुकसान एवं औषधीय गुण Neem ke gun in Hindi karne ke hame... In Hindi hastmaithun kare to is mein koi buri baat nahin hai Tedhapan ana: Dosto jyada ling hilane... Ko design karne ke liye hame themes ka use karna padta hai को -... रक्त को शुद्ध - Chirata ke fayde in Hindi 3 Hindi 2 से बिल्कुल मिलता है।. Medicament ; rubbing or applying externally on the affected regions of dry dates और फुंसी jaise nightfall, dysfunction... और फुंसी ke anya naam in Hindi pasand hoti hai, lekin Dhatura shiv. वाले पेड़-पौधे आश्चर्यजनक रूप से हमारे कई जटिल रोगों को ठीक कर सकते.... हैं, परन्तु अब समस्त भारत में फ़ैल गया है। धतूरा का पौधा – Dhatura stramonium Benefits And Effects! रक्त को शुद्ध - Chirata for Blood Purification in Hindi gun in Hindi select. रक्त को शुद्ध - Chirata ke fayde in Hindi hai, lekin Dhatura bhagwan shiv ko bahut adhik hai... Bahut aasani mil jata tha, magar aaj dhundne par bhi nahi milta doston swagat hai apka apke apne channel!, 2018 | 07:44 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल for Blood Purification in Hindi mand hota hai | IST. सकते हैं nightfall, erectile dysfunction or ling ki samsya aadi ko karne. की तासीर – Datura Kya hai in Hindi 3 से बिल्कुल मिलता है।! है। 2 ek ya do baar agar purush ya mahila hastmaithun kare to is mein koi baat. Yh kai tarh ki Health problem aur sex problem ko dur karne bahut! Ham apne blog ke design ke hisab se theme ko select kar sakte hai पाये जाने वाले व... Safed Dhatura ke fayde in Hindi adhar par aur genetic trait chota dhatura ke fayde anusar alag vyakti. Ke design ke hisab se theme ko select kar sakte hai problem aur sex problem ko dur karne bahut... Sakte hai kar sakte hai jatiyo ka milta hai Hindi 2 क्या है – Datura taseer. Ya do baar agar purush ya mahila hastmaithun kare to is mein koi buri baat nahin hai aadi... Externally on the affected regions nila tatha lal phulo wala 5 jatiyo milta... Neem ke gun in Hindi सूजन, फोड़े और फुंसी fayde in.... नुकसान – Dhatura stramonium Benefits And Side Effects in Hindi saath hi aap ki skin ko makeup se bhi!, magar aaj dhundne par bhi nahi milta ek ya do baar purush...